ZOMATO ( जोमैटो ) SUCCESS STORY | PANKAJ CHADDAH & DEEPINDER GOYEL | ORDER FOOD ONLINE | INDIAN STARTUP

 ZOMATO ( जोमैटो ) SUCCESS STORY | PANKAJ CHADDAH & DEEPINDER GOYEL | ORDER FOOD ONLINE | INDIAN STARTUP

दोस्तों भारत का नाम अब उन देशो में सुमार किया जाता है जहा पर टेक्नोलोजी का उपयोग हर दिन के साथ बहुत तेजी से किया जाता है और लोग छोटे से छोटे काम को पूर्ण करने के लिए इंटरनेट का उपयोग करता है। पिछले कुछ सालो में इंटरनेट यूजर की संख्या में बहुत ज्यादा बढ़त देखते हुए कंपनी भी अब ऐसी ही प्रोडक्ट लॉन्च कर रही है जो पूरी तरह से टेक्नोलॉजी पर निर्भर हो और इसी की वजह से हमें पिछले कुछ सालो में फ्लिपकार्ट,अमेज़ॉन,ओयो रूम्स और ओला कैब  जैसे कही सफल स्टार्टअप देखने को मिले है। दोस्तों इसी तरह टेक्नोलॉजी पर आधारित एक स्टार्टअप ZOMATO की शुरुआत हुई थी।

Zomato ऑनलाइन फ़ूड डिलेवरी के लिए जनि जाती है। इसी विचार को आगे लेके कही सारी कम्पनिआ मार्किट में आयी थी , लेकिन उस कम्पनीओ को पीछे छोड़ कर यह कंपनी ने अपना स्थान आगे बनाए रखा है। आज पुरे भारत में Zomato और Swiggy के अलावा सायद ही ऐसी कोई कंपनी होगी जो सबसे अच्छी फ़ूड डिलेवरी देती होगी। Zomato की इस सफलता का अंदाज भी आप इसी Success Story से जान पायेंगे , जिस कंपनी की शुरुआत 2008 में दो लोगो द्वारा सुरु की गई थी और आज ये कंपनी 24 देशो में ये अपनी सर्विस पूरी करती है। 

ZOMETO की शुरुआत कैसे हुई ?

दोस्तों इस कंपनी को बनाने का पूरा श्रेय जाता है IIT DELHI के दो दोस्त Pankaj Chaddah और Deepinder Goyel को , जो एक साथ कॉलेज से पासआउट होने के बाद एक मैनेजमेंट कंसल्टिंग कंपनी BAIN & COMPANY में जॉब करते थे , तब उन्होंने वहा जॉब करते हुए देखा की कही सारे लोग रेस्टोरेंट में जाके मेनू कार्ड देखने में ही अपना समय बर्बाद कर रहे थे। इसी परेशानी को सुलझाने के लिए इन दो दोस्तों के दिमाग में एक विचार आया और इसी से FOODIEBAY की शुरुआत हुई। FOODIEBAY एक ऐसी वेबसाइट थी जहा पर कही सारे रेस्टोरेंट के मेनू कार्ड मिल जाते थे। इस वेबसाइट पर रेटिंग की सुविधा भी उपलब्ध थी जिशके चलते लोगो को अच्छे रेस्टोरेंट के बारे में जानकारी मिल जाती थी। शुरुआत के कुछ दिनों में इस कंपनी को पसंद नहीं किया गया , बाद में इस वेबसाइट को बहुत ही प्रसंसा मिली। शुरुआत में ये वेबसाइट अपनी सर्विस दिल्ली में ही देती थी , बाद में मुंबई और कोलकाता में भी अपनी सर्विस देना सुरु किया। 

कंपनी की सफलता को देखते उशका नाम FOODIEBAY से ZOMATO रखा गया , इस नाम को बदल ने का कारण यही था की इश्का नाम EBAY से मिलता था। 2011 में नाम बदल ने के बाद दिल्ली,मुंबई,बेंगलोर,पुणे और कोलकाता जैसे अलग अलग शहरो में भी फैला दिया गया। 

Zomato की सफलता को देखते NAUKARI.COM के फाउंडर Sanjay Bikhchandani ने Zomato में $1M का निवेश किया और INFO EDGE (INDIA) से भी $3M का फंडिंग मिला। इसी तरह अलग अलग जगहों से फंडिंग मिलने के बाद से Zomato तेज़ी से आगे बढ़ता चला गया और समय के ढलते Zomato ने अपनी मोबाइल एप्लीकेशन भी लॉन्च की। 2014 तक ये कंपनी LOSS में चल रही थी , लेकिन इंटरनेट की किंमत सस्ती और स्पीड अच्छी मिलने की वजह से Zometo फायदे में आ गया। कंपनी अब केवल रेस्टोरेंट की जानकारी ही नहीं उपलब्ध करती लेकिन उसके साथ साथ ऑनलाइन फ़ूड डिलेवरी भी करती है। फ़ूड डिलेवरी सर्विस के बाद से Zomato ने कभी पीछे मुड़कर देखा ही नही। आज देखा जाये तो Zomato के 24 अलग अलग देशो में 8 करोड़ से भी ज्यादा लोग इसे पसंद करते है। 

Zomato का टोटल रेवेन्यु $210M से भी ज्यादा है और इस कंपनी में आज 5,000 से भी ज्यादा लोग काम करते है। Zomato का Alexa Rank आज 963 है।

 

ये है दुनिआ की 7 सबसे बड़ी LUXURIOUS CAR कम्पनिए ( Top 7 Most luxurious and richest car companies in the world )

 ये है दुनिआ की 7 सबसे बड़ी LUXURIOUS CAR कम्पनिए ( Top 7 Most Luxurious and Richest Car Companies in the World )

1. TOYOTA 

 
Toyota पुरे दुनिआ की सबसे बड़ी कार कंपनी है और Tesla कंपनी से भी चार गुनी बड़ी है। Toyota शुरुआत 1937 में जापान में हुई थी। Toyota कार और ट्रक्स के साथ साथ कार अस्सेसरीश भी बनता है जैसे इंजिन,कम्प्रेसर और टेक्सस्टाइल मशीनरी। Toyota हाइब्रिड इलेक्ट्रिक वेहीकल ओट हेयड्रोजन फुएल बाजार में भी ग्लोबल मार्किट लीडर है,जिनका कुल शेयर पुरी दुनिआ में 10.24 % है। 
 
Toyota अमेरिका में 1957 में आया था और अकेले US में उन्होंने 3 लाख लोगो को नौकरी दी थी। भारत में भी Toyota की शुरुआत 1997 में हुई थी। Toyota के पूरी दुनिआ में 28 देशो में  53 मैनुफैक्टरिंग प्लान्ट है। Toyota एक मात्र ऐसी कंपनी थी जिन्होंने 2012 में सिर्फ एक साल में 10M  Car बनाई थी। दुनिआ की सबसे Develop कंपनी में Toyota सबसे पहले नंबर पर आती है। इसीलिए लिए ये कंपनी अपनी Research और Development के लिए हर घंटे $1M खर्च करती है। आज Toyota का टोटल Revenue $278B है और अपनी कंपनी के Advertisement के लिए सिर्फ US में ही $1.51B करता है। अब आप सोच सकते हो की यह कंपनी बाकी देशो में कितना खर्च करती होगी। 
 

2. VOLKSWAGEN

Volkswagen ने भी मार्किट में बहुत अच्छी पकड़ बनाई राखी है। Volkswagen की शुरुआत 1937 जर्मन ऑटोमेकर्स ने की थी और इस कंपनी की मैन ऑफिस भी जर्मनी में है।आज Volkswagen 5 क्षेत्रो में करता है,जैसे पैसेंजर Cars,कमर्शियल वेहीकल,फाइनेंसियल सर्विसीस,मोटरसाइकल और पावर इंजिनीरिंग। चाइना में Volkswagen का  सबसे बड़ा मार्किट है। वहा से उन्हें 40% Sells मिलते है। यह कंपनी कही सारे क्षेत्र में काम करती है। जैसे ,
                 *   PORSCHE                                               *  SKODA
                 *  AUDI                                                        *  VOLKSWAGEN
                 *  BENTLEY                                                *  MARQUES
                 *  LAMBORGHINI                                      *  BUGATTI
                 *  CEAT
 
यह सरे Brands की कीमत बहुत ही ज्यादा है। Volkswagen 153 देशो में अपनी Car बेचते है और इस कंपनी में आज 6,25,715 लोग काम करते है। Volkswagen साल में 1,03,07,340 Car को बेचता है। इस कंपनी का टोटल Revenue $282.5B है। 
 

3. TESLA INC.

 
दुनिआ की सबसे बड़ी क्लीन एनर्जी पे चलने वाली इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने वाली कंपनी है। इस कंपनी की स्थापना ELON MUSK ने की थी। इन्हे इस कंपनी की शुरुआत करने का विचार जनरल मोटर्स से आया था , जब जनरल मोटर्स ने अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार EV1 बनाई थी। Tesla ने अपनी पहली कार Tesla Roadster 2008 में लॉन्च की थी और 2008-2012  के दौरान Roadster के 2450 Unit बीके। 
 
केलिफ़ोर्निआ और US में Tesla की मैन ब्रांच है , जहा पे आज इस कंपनी Tesla मॉडल S,E,X और Y जैसे कही सरे महेंगे मोडल की गाडिआ बनता है। आज Tesla दुनिआ की Most Valuable Car कंपनी  बन गई है। इंटरनेशनल शेयर मार्केट में आज Tesla की एक शेयर की किंमत $1,000 है। इस कंपनी का टोटल Revenue $20-25B है। आज इस कंपनी में आज 50,000 से भी ज्यादा लोग काम करते है और जल्द ही Tesla बारात के बाज़ारो में अपना कदम आगे बढ़ाने वाला है। 
 

4 . BMW

 
 BMW (Bayerische Motoren Werke) एक जर्मन में स्थित Car कंपनी है। BMW की शुरुआत 1960 में हुई थी जो की 1945 तक एयरक्राफ्ट एंजिन बनाई करती थी। BMW कंपनी आज दुनिआ की सबसे बड़ी कंपनी में से एक है। ऑटोमोबाइल,मोटरसाइकल और फाइनांसियल सर्विस जैसे 3 क्षेत्र में ये कंपनी काम करती है। 1972 में BMW ने अपनी पहली इलेक्ट्रिक Car लॉन्च की थी और आज BMW हर साल कही सारी Car को बेचता है। 
 
ऑटोमोबाइल के अंडर BMW 3 ब्रांड को मैनुफेक्चर करता है जो है BMW,ROLLS ROYCE  और MINI , वही मोतलसाईकल के अंडर में BMW एक ही ब्रांड को मैनुफेक्चर करता है जो है BMW MOTORRAD। 2017 में BMW ने 2M कार को बेचा था। BMW के पूरी दुनिआ में 14 देशो में 31 मैनुफैक्टरिंग प्लान्ट है। इस कंपनी में आज 1,24,000 से ज्यादा लोग काम करते है। BMW 140 से ज्यादा देशो में अपनी Car बेचता है। अभी BMW 25,00,000 भी ज्यादा Car बेच चूका है। इस कंपनी का टोटल Revenue $23.5 BILLION DOLLARS है। 
 
 

5 . MERCEDES BENZ

 
Mercedes Benz एक जर्मन ऑटोमोबाइल कंपनी है। ये कंपनी दुनिआ की दुनिआ की नंबर 1 कम्पनीओ में से एक है , जो प्रीमियम लग्जरियस Car बनाती है। ये कंपनी ट्रक्स,बस और वेन भी प्रोड्युस करता है। Mercedes Benzके 20 देशो में अपने प्रोडक्शन यूनिट है। यह कंपनी कही सारे क्षेत्र में काम करती है , जैसे COMMAS ,FUSHO ,MITSOBISHI और हर साल ये कंपनी 3M Car बनाती है। 


Mercedes Benz अलग अलग क्षेत्र में काम करती है जैसे Mercedes Benz Car,Mercedes Benz Ven,Daimler Trucks,Daimler Vens or Daimler के कुल Sells 30,00,000 भी ज्यादा है। इस कंपनी में आज 2,84,000 से ज्यादा लोग काम करते है। Mercedes Benz हर साल $42650 MILLION EUROS का Revenue हाशिल करती है। 
 
 

6 . HONDA MOTORS


Honda कंपनी जापान में स्थित है। इस कंपनी की शुरुआत 1948 में हुई थी। Honda Motors आज दुनिआ की सबसे बड़ी मोटरसाइकल कंपनी है। Honda के Car के सबसे ज्यादा प्रोडक्शन US में होते है। 2017 में Hondaने अपने 5M Car को बेचा था। आज Honda दुनिआ की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी है। Honda आज एयरक्राफ्ट भी बनाता है। 


Honda के पूरी दुनिआ में 33 देशो में 89 मैनुफैक्टरिंग प्लान्ट है और Honda अपना प्रोडक्ट 140 देशो में बेचता है।
इस कंपनी में आज 2,00,000 से ज्यादा लोग काम करते है। Honda हर साल $93000 MILLION का Revenue हाशिल करती है। 

7 . GENERAL MOTORS


General Motors एक अमेरिकन मल्टीनेशनल कॉर्पोरेशन है। इस कंपनी की सुरुआर 1908 में हुई थी। General Motors चार ऑटोमोबाइल क्षेत्र में काम करता है जैसे CHEVROLED,BUICK,GMC और CADILLAC। General Motors में 2,50,000 लोग काम करते है। यह कंपनी 140 देशो में अपना व्यापार चलाती है। 


General Motors विभिन्न क्षेत्र में काम करती है जैसे GM नॉर्थ अमेरिका,GM इंटरनेशनल ऑपरेशन,Cruise और General फिनांसियल सर्विस। General Motors के कुल Sells 99,65,000 भी ज्यादा है। आज General Motors का टोटल Revenue $13,723 MILLION DOLLARS  है । 

ये थी दुनिआ की सबसे बड़ी 7 ऐसी कंपनी जो हर साल कही सरे रुपये कमाती है और ये कम्पनिआ आज पूरी दुनिआ में प्रसिद्ध है।
 
 

ZILINGO कैसे बनी नंबर 1 E-Commerce Company ( ZILINGO SUCCESS STORY | MADE 6900+ CRORE IN 3 YEARS )(Ankiti Bose-Founder Of Zilingo )( ZILINGO BUSINESS MODEL )

ZILINGO कैसे बनी नंबर 1  E-Commerce Company ( ZILINGO SUCCESS STORY | MADE 6900+ CRORE  IN 3 YEARS)(Ankiti Bose-Founder Of Zilingo )

 

 ये कहानी एक ऐसी लड़की की है जिन्होंने अपने दम पर एक इंटरनेशनल बाजार में अपनी कंपनी खड़ी की और उससे लाखो लोगो को रोजगारी भी दी। इस  लड़की ने पुरे भारत का नाम विश्व में सबसे ऊंचा किया है। ऐसे तो कई सरे लोग है जिन्होंने भारत का नाम प्रसिद्ध किया है , लेकिन हम आज जिसके बारे में बताना चाहते है वो एक लड़की है और उशकी उम्र सिर्फ 23 साल की थी जब उन्होंने िश कंपनी की शुरुआत की थी। हम बात कर रहे है अंकिती बोझ की।आज हम इन्ही के बारे में कुछ ऐसी बात जानेंगे जो अपने कभी सुनी नहीं होगी। 

ANKITI BOSE CAREER DETAIL :

Ankiti Bose ने मुंबई के St. Xavier's College से अपनी पढाई पूरी की।पढाई करने के बाद इन्होने Sequoia Capital में अपना जॉब किया और जॉब करते करते एक दिन इन्होने निर्णय लिया की एक दिन में खुद की कंपनी बनाउंगी। उस दौरान उसकी मुलाकात हुई गुवाहाटी IIT के Dhruv Kapur से,जिनके साथ मिलकर Ankiti ने अपनी कंपनी लगाई,में बात कर रहा हु ZILINGO की।अब आप ये कहेंगे की अपने इस कंपनी का नाम नहीं सुना क्योकि ये कंपनी भारत में उपलब्ध नहीं है। इनकी मैंन ब्रांच सिंगापुर में है,इसका टेक्निकल सपोर्ट भारत से है और इस कंपनी का बाजार South East Asia में है। 

ZILINGO SUCCESS STORY :

 भारत में जैसे Amazon और Flipcart जैसे बड़े प्लेयर्स है South East Asia में उस समय ऐसी कोई कंपनिया नहीं थी। Ankiti जब थाईलैंड गई,तब वहा चतुचक मार्केट में गई,वहा उन्होंने देखा की कही सारे लोग छोटे छोटे गांव से आते थे और अपना सामान बेच रहे थे। उसी समय Ankiti ने सोचा की वो पुरे साउथ ईस्ट एशिया के जितने भी ऐसे लोग है,जो अपना सामान बेचते है उनके लिए वो ONINE PLATEFORM शुरू करेगी।उन सभी लोगो के लिए उन्होंने अपने वेबसाइट पर Free Listing की सुविधा उपलब्ध करवाई। Ankiti अपने वेबसाइट पर प्रोडक्ट बेचने के लिए कोई Fees नहीं लेती थी,लेकिन उशके बदले में वो 10-20 % COMMISION लेती थी। 

Zilingo को शुरू करने के लिये इस कंपनी के फाउंडर ने मिलकर $30,000 इक्क्ठे किये और इस समय पर इन लोगो के पास कोई इनवेस्टर नहीं थे जो कंपनी को फंड दे सके। कुछ ही सालो में इस Zilingo का बिज़नेस बहुत ही आगे बढ़ा और आज इस कंपनी के पास कही सरे बड़े बड़े इनवेस्टर है। Zilingo शुरू करने के लिए Ankiti ने South East Asia को चुना,क्योकि भारत में उस समय Amazon और Flipcart जैसी कई सारी बड़ी कम्पनिआ थी और South East Asia में ऐसी कोई सर्विस उपलब्ध नहीं थी। हम आपको बता देते है की 2018 तक Zilingo की आमदनी लगभग 20 गुना बढ़ गई थी।

ZILINGO  का मतलब है "THE GIFT OF GOD"। Ankiti आज कहती है की महिला होना कोई दिक्कत की बात नहीं है। हर और महिलाओ कोई सपोर्ट मिलता है।वो कहती है की जब वो सिकोया कैपिटल में थी तब उन्हें कही सरे स्टार्टअप को Judge करने का मौका मीला। उसी  दिन उन्होंने तय कर लिया की एक दिन में भी बहुत कंपनी शुरू करुँगी,और वो सपना पूरा हो गया। इसीलिए आज भी हम कहते है की कोई भी बहाना हो छोड़ दीजिए की में एक महिला हु , मेरी उम्र कम है , मेरे पास कोई विदेशी COLLEGE की डिग्री नहीं है और मेरे पास पूंजी नहीं है। 

 ZILINGO RECTANGLE : 

RECTANGLE के चार कोने में से पहला है Technology। कोई भी बिज़नेस बिना Technology के नहीं होता , जब Ankiti थाईलैंड गई थी तब उसने देखा की उनके पास सबसे ज्यादा कमी टेक्नोलॉजी की है। इशके लिए उशने TECHNOLOGY TOOLS का निर्माण किया। 

  TECHNOLOGY TOOLS:

  • Platform where People from Different Countries can Meet together
  • Buyer can see the products in Factories
  • Inventory Management
  •  Cross Border Shipping

ZILINGO का दूसरा कोना है FINTECH। FINTECH का मतलब है फाइनैंशल टेक्नोलॉजी पार्टनरशिप। उशने देखा की लोगो के पास सामान बनाने के लिए पैसे नहीं थे , इशके लिए उन्होंने फिनानइर कंपनी से पार्टनरशिप करके इन लोगो को पैसो के मामले में सपोर्ट किया। ये पैसा उन्होंने काम व्याज पर देना सुरु किया , इस  पैसे वजह से लोगो को Advance Payment मिलना सुरु हो गया और जब आप किसी को Financial Support देते हो उस क्षण आप उसके Business Partner बन जाते हो और फिर वह आपको कभी भी छोड़ने का नहीं सोचते और यह ZILINGO के साथ भी हुआ। 

ZILINGO का तीशरा कोना है ZILINGO NETWORK। इस  नेटवर्क में Manufacturer काम लागत में अपना सामान खरीद सकता है , फिर चाहे वो दुषरे देस ही क्यों ना हो। ZILINGO उश्के लिए भी प्लेटफार्म देता है। 

अंत में आता है ZILINGO Local Support। वो लोगो को पूरा सपोर्ट करती है , लोगो को सामान खरीदने से लेकर बेचने तक सारी जानकारी एक ही प्लेटफार्म पर देती है।

ZOLINGO LOCAL SUPPORT : 

  • Future Requirements
  • Running Fabrics
  • Training
  • Help In Documentation
  • Shares all Expertise
ZILINGO ऐसे तो कई सरे प्रोडक्ट कोई अपनी वेबसाइट पर बेचता है लेकिन ZILINGO सबसे जयादा आमदनी और मुनाफा कपडे के बिज़नेस से कमाता है। इसी लिए आज ZILINGO में कई सरे ऐसे मैनुफेक्चर है जो अपना सामान ZILINGO के माध्यम से बेचते है और रोजाना लाखो रुपये के व्यापर करते है। जब किसी मैनुफ़ैक्चर के पास सामान को उत्पादित करने के लिए पैसा नहीं है तो अब ZILINGO ऐसे कई सरे लोगो को फाइनेंसियल सपोर्ट भी करती है , इन सब की वजह से ZILINGO इतने काम समय में बहुत ही आगे निकल चुकी है और आज िश कंपनी के पास कई सरे बड़े इन्वेस्टर है,जो इस कंपनी को कई सारा फंड देते है।
 
इसीलिए हम कहते है की Ankiti से पूरा भारत गर्व मेहसूस करता है।अंत उनके आमदनी की बात करते है। ZILINGO पिछले तीन साल में 6900+ का Revenue हासिल किया है।
 
अगर आप भी ZILINGO  तरह अपनी कोई खुद कंपनी सुरु करना चाहते हो तो हमारे इस वेबसाइट को FOLLOW कर दीजिये ताकी आपको ऐसी कही सारी मोटिवेशनल स्टोरी के बारे में पता चल सके और भविष्य में आप भी कुछ अच्छा कर सके अपने जीवन में।  

दुनिआ के 10 सबसे छोटे देश (Top 10 Smallest countries in the world)(2020)

दुनिआ के 10 सबसे छोटे देश (Top 10 Smallest countries in the world)(2020)

 
आप ने कभी सोचा है की दुनिआ में सबसे छोटे  देश  कितने छोटे होंगे। आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते,क्योकी यह देस की जनसंख्या आपके महौलेसे भी काम है। दुनिआ के टॉप १० देश ऐसे भी है जिनका क्षेत्र कोई एक छोटे से गांव या शहर से भी छोटा है। आज हम जानेंगे की इन १० देशो की आबादी और क्षेत्र कितना है। 
 
1 . सीलैंड ( Sealand ):
 

 
सीलैंड दुनिआ का सबसे छोटा देश माना जाता है और इस देश का एक झंडा भी है ,जिसका रंग लाल,सफ़ेद और काला है। इस देस का  क्षेत्र  0.025 squrefeet है। सीलैंड इंग्लैंड देश के पास स्थीत है इंग्लैंड के समुद्री तट से करीब १० km दूर है। दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान ब्रिटेन ने इसको बनाया था। इस देश को इंटरनेशनल मान्यता नहीं मिली है,लेकिन सीलैंड के पास अपनी पासपोर्ट मुद्रा है। इशलिये सीलैंड को एक देश माना जाता है। इस देश की जनसँख्या मात्र 30 है। 
 
2 .वेटिकन सिटी ( Vatican City ):
 
 
वैटिकन सिटी भी दुनिआ के छोटे देशो में शामिल है। इस देस का क्षेत्र  0.44 squrefeet है।यहाँ की जनसँख्या लगभग लगभग 1000 है।इस देश की सिमा 2 km तक ही है।आप पैदल घूम सकते हो इस देश को।यहाँ पर शानदार इमारते भी है,जो लोगो को खुश कर देती है। इस देश में एक बहुत ही बड़ा म्यूज़ियम पाया जाता है जिशकी लंबाई 14.3 KM है और अगर आप इस म्यूज़ियम में 1 चित्र को देखने में 1 मिनिट का समय लगाते हो तो पूरा म्यूज़ियम देखने में 14 साल का समय लग जायेगा। यह देश को बहुत ही पवित्र माना जाता है लेकिन इस देश में कोई जेल नहीं होने के कारण क्रिमिनल केस की संख्या इस देश की आबादी से भी ज्यादा है। वैटिकन सिटी का अपना कोई मिलेट्री नहीं है ,इशलिये यह देश इटली के ऊपर काफी निर्भर है।
 
3 . मोनाको ( Monaco ):
 

यह देश यूरोपियन द्वीप में फ्रांस और इटली के बिच में स्थित है। इस देस का  क्षेत्र  2.02 squrefeet है।यह देश दुनिया के किसी देश से ज्यादा प्रति व्यक्ती करोडपति है ,क्योकि यह देश पर्यटकों के लिए अच्छा माना जाता है और इस देश का कसीनो दुनिआ में अति लोकप्रिय माना जाता है,इशके कारन हररोज यहाँ पर्यटकों के द्वारा करोडो रुपये कसीनो पे लगाए जाते है। पर्यटन के लिए यह जगह बहुत ही सुंदर  है। इस देश की जनसँख्या लगभग 36,500 है। 

4. नौरू ( Nauru ):
 

नॉरू देश की स्थापना 1668 में हुई थी। यहाँ के लोग छत पर टेंक लगाकर बारिश के पानी का संग्रह करते है। िश देश का साक्शरता दर 95.3% है और देश में सबसे ज्यादा इशाई धर्म के लोग रहते है। इस देस का क्षेत्र  21 squrefeet है।इस देश की जनसँख्या लगभग  10,000  है। इस देश की बेरोजगारी का दर 90% है और बाकि के 10% लोग सरकारी नौकरी कर रहे है। यह देश सबसे ज्यादा मोटे लोगो के देश से जाना जाता है। 
 
5. तुवालु ( Tuvalu ):
 

 इस देस का क्षेत्र  26 squrefeet है। तुवालु औस्ट्रेलिया में स्थित पोलिनोएसीआई  द्वीप देश है। ये देश की मुख्य आमदनी का स्त्रोत मछली और नारियल है। पर्यटकों के लये यह देश सबसे अच्छा माना जाता है। इस  देश को 1978 में ब्रिटेन से आज़ादी मिली थी। यह देश 3 टापु से बना है। इस देश की जनसँख्या लगभग 10,500 है। 

6. सैन मैरिनो ( San Marino ):
 
 
यह देश यूरोप का सबसे छोटा देश है और यह देश काफी धनी देश माना जाता है ,क्योकि इस देश में गाड़िओ की संख्या देश की कुल जनसँख्या से 30% ज्यादा है। इस देश का ज्यादातर पैसा बैंकिंग,सेरामिक और इलेक्ट्रॉनिक्स से आता है। देश के ज्यादातर लोग इटली भाषा में बात करते है। इस देस का क्षेत्र 61 squrefeet है। यह देश सबसे प्राचीन देशो में से एक है। इस देश की स्थापना AD300 में हुई थी। इस देश की जनसँख्या लगभग 32,500 है। 
 
7. लिक्टनस्टीन ( Liechtenstein ):
 
 
 इस देस का क्षेत्र 160 squrefeet है। यूरोप का यह देश स्वज़रलैंड और औस्ट्रेलिया के बिच स्थित है।देश छोटा है पर पैसे के मामले में यह देश बहुत आगे है और इस देश की बेकार के मात्रा सिर्फ 1.5% है। इस देश में टेक्स की मात्रा कम होने की वजह से इस देश में रेजिस्टेड कंपनी की संख्या देश की कुल आबादी से भी ज्यादा है और यह कारन है की दूसरे देशो की कही सारी कंपनीया इस देश में व्यापार करना चाहती है। इस देश की जनसँख्या लगभग 37,500 है। देश का सबसे बड़ा शहर सच्चान है। GDP के मामले में यह देश नंबर 1 पर है।

8. सेंट किट्स एवम नेविस (Saint Kitts & Nevis ):
 

यह एक केरेबियन देश माना जाता है और ये देश का मुख्य व्यवसाय खेती माना जाता है। ब्रिटेन ने 1961 में इस देश को अलग राज्य घोसित किया था बाद यह एक देश हो गया। इस देश का क्षेत्र 261 squrefeet है। यह अमेरिका महाद्वीप का सबसे छोटा देश मन जाता है। इस देश की जनसँख्या लगभग 56,000  है। इस देश की income का मैन स्रोत खेती और पर्यटन है। 
 
9. मालदीव ( Maldives ):
 

मालदीव एशिया का सबसे छोटा देश माना जाता है,क्योकि इस देश का 55% हिस्सा सिर्फ पानी है। मालदीव देश की सबसे ज्यादा आमदनी पर्यटकों के द्वारा होती है। दोस्तों मालदीव का समुद्री नजारा बहुत ही कमाल का माना जाता है ,इसीलिए इन्हे ब्लू वोटर्स के नाम से जाना जाता है। इस देस का क्षेत्र 261 squrefeet है। यह देश हिंदमहासागर में स्थित है। यह देश जनसँख्या और क्षेत्र के मामले में एशिया का सबसे छोटा देश है। इस देश की जनसँख्या लगभग 3,93,000 है। पर्यटन के लिए यह जगह सबसे अच्छी मानी  जाती है। 
 
10. माल्टा ( Malta ):
 
 
माल्टा यूरोप में इटली के पास बसा हुआ छोटा सा देश है और यह देश बहुत ही आमिर है। यह देश काफी पुराना  माना जाता है और िश देश की ईमारत कोई पिरामिड से कम नहीं है। इस देस का क्षेत्र 316 squrefeet है। यूरोपियन महाद्वीप का सबसे छोटा देश है। इस देश की जनसँख्या लगभग 4,50,000 है। जनसँख्या के मामले में यह देश बहुत घना  है।